खांशी का देशी इलाज

खांशी का देशी इलाज

खांशी का देशी इलाज
  1.  मुलहठी , कत्था और गोंद बबूल प्रत्येक दस ग्राम लेकर           

कूट – पीसकर कपड़े से छान लें | अदरक के रस में दो – तीन घण्टे

घोटकर चने के बराबर गोलियां बना लें और एक – एक गोली चूसते 

रहें | खांसी के लिए अत्यन्त लाभदायक है |

2. दस – पन्द्रह तुलसी के पत्ते और आठ – दस काली मिर्च की चाय 

बनाकर पीने से खांसी , जुकाम व बुखार ठीक हो जाता है |

3॰ आंवले के छिलके को सुखाकर चूर्ण बनाकर और बराबर मिश्री मिला लें |

 6 ग्राम सुबह ताजे पानी से खाएं | पुरानी – से पुरानी खांसी ठीक हो जाएगी |

4॰   मुलहठी , काली मिर्च 10 – 10 ग्राम भूनकर पीस लें और 30 ग्राम पुराने गुड 

में मिला लें | मटर जितनी गोलियां बनाकर ताजे पानी के साथ सेवन करें | खाँसी 

जड़ से ठीक हो जाएगी |

5. अदरक का रस व शहद 10 – 10 ग्राम बराबर मिलाकर गर्म करके चाटने से खाँसी 

ठीक हो जाती है |

 

खांशी का देशी इलाज

Random Posts

  • संघर्ष

             संघर्ष  इतिहास बताता है कि बड़े – बड़े विजेताओं को भी जीत से पहले हताश कर देने वाली बाधाओं का […]

  • और क्या कढ़ी

    एक दिन बीरबल को अपने किसी सम्बन्धी के यहाँ निमंत्रण में जाना था , वह दरबार खत्म होने से पहले […]

  • चाट रहे थे

    बीरबल से अक्सर बादशाह अकबर हँसी -दिल्लगी करते ही रहते थे |हँसी -हँसी में ऐसी बात कह जाते थे जो […]

  • साले की जिद्द

    बादशाह अकबर के साले साहब ने एक बार फिर से स्वयम को दीवान बनाने की जिद्द की | अब बादशाह […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*