दुबला और पतला शरीर

दुबला और पतला शरीर

यदि शरीर आवश्यकता से अधिक दुबला और पतला हो , जिसे कहीं भी ले जाने मे शर्मिन्दगी

महसूस होती हो तो ऐसा क्यों है ? इसका कारण भी खोजना चाहिए | यदि खाये हुए आहार का

ठीक प्रकार से पाचन न हो तो आहार रस का निर्माण उचित मात्रा मे नही होता है | इस कारण

से रक्त , मांस , चर्बी , मज्जा , रज , हड्डियों आदि का पोषण एवं संवर्धन भी ठीक नहीं हो पाता

है | इसी से शरीर दुबला और पतला पड़ जाता है | इसका एक दूसरा कारण भी है , जो स्त्रियाँ

आवश्यकता से अधिक परिश्रम करते है , उनके शरीर मे मांस , रक्त और चर्बी की वृद्धि बहुत अल्प

मात्रा मे हो पाती है , जिस कारण उनका शरीर दुबला और पतला रह जाता है | अधिक मात्रा मे

संभोग – रत रहने के कारण भी शरीर की मुख्य धातु का कमी हो जाता है , बल्कि अन्य धातुए

भी क्षीण होने लगती है | रोगो की अधिकता के कारण भी यह स्थिति आ सकती है | पतले

शरीर पर मांस और चर्बी की कमी स्पष्ट ही दिखाई देती है | शरीर एक कंकाल – सा दिखाई देने लगता है | ऐसी स्त्रियों को रोग भी शीघ्र ही आ घेरते हैं , क्योंकि उनके शरीर में रोगों से लड़ने की शक्ति नहीं होती |इन स्त्रियों को बादाम , मूँगफली , खजूर , पिस्ता ,मुनक्का ,अखरोट तथा काजू आदि का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए | इससे मांस और चर्बी की वृद्धि होती है | इनके लिए गेहूं ,चावल ,उड़द ,राजमा ,चना ,तिल ,दूध , दही ,मक्खन , घी और तेल हितकर होता है | केला , मौसम्मी,अनार ,अंगूर ,संतरा , सेब ,और आम तो विशेष उपयोगी सिध्द होते है | सब्जियों मे बथुआ , आलू , पेठा , शलजम , सेंम , तरोई , गाजर ,टमाटर , कटहल ,गोभी , और मटर का प्रयोग भी उन्हें अधिक मात्रा में करना चाहिए |

दुबला और पतला शरीर

Random Posts

  • चाट रहे थे

    बीरबल से अक्सर बादशाह अकबर हँसी -दिल्लगी करते ही रहते थे |हँसी -हँसी में ऐसी बात कह जाते थे जो […]

  • जैसा सोंचोगे वैसा बनोगे

    जैसा सोंचोगे वैसा बनोगे                            अगर आप सोचते […]

  • स्वप्न

    एक दिन किसी ब्राह्मण ने रात मे स्वप्न देखा कि उसको सौ रूपये उधार अपने मित्र से मिले है सवेरे […]

  • पुलिस का लव लेटर

    डी .एस पी ।(डब्बू श्यामू और पप्पू )की माँ , सदा खबरदार रहो , तुम्हें घर से मैके ,फरार हुए […]

One thought on “दुबला और पतला शरीर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*