पनवाड़ी पति का लव लेटर

पनवाड़ी पति का लव लेटर

हमारी पियारी राम दुलारी ,

सदा मूस्कियात रहो ,

जब से तुम रिसियाय के अपने मंगरू भैया के इहाँ गई हो ,

तब  से  हमरी  जिन्दगी आइसो होई गई है जइसे बिना सुपारी का पान 

हमार मन सुरति खाने भी नहीं करत है /

कसम कलकत्ता पान की तुमरे संग हमार मन अइसे घुल मिल गवा है ,

जइसे चुन्ना क्त्थे के साथ मिल जाता है हम मानत हैं कि गलती हमार है कि 

हम तुमको सनीमा देखाने नहीं लई गए पर हम का करे दिन भर पान की 

दुकान पर बाइठ के चुन्ना लगाए लगाए के हमरी मति भी सुन्न होई गई है ,

अब हम तुमसे हाथ गोड़ जोड़ के चिरौरी करत है कि तुम गुस्सा पीक दो 

पनवाड़ी पति का लव लेटर

 

 

 

 

 

 

 

 

Random Posts

  • Letane Ki Adat

    बीरबल दोपहर को खाना खाने के बाद कुछ देर लेटकर आराम करता था | यह उसकी आदत में शुमार था […]

  • Shayari For Whatsapp Status || Whatsapp Hindi Shayari

    Shayari For Whatsapp Status || Whatsapp Hindi Shayari नमस्कार दोस्तों आज – कल  हर एक नवजवान लगा रहता है अपने […]

  • नजरिए का महत्व

    नजरिए का महत्व नजरिए का महत्व– एक आदमी मेले मे गुब्बारे बेच कर गुजर – बसर कर रहा था | उसके […]

  • अकबर का सवाल

        अकबर का सवाल दरबार मे एक दिन बीरबल उपस्थित नहीं था ,इसलिए कई दरबारी बीरबल की बुराई करने […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*