Bhitar ka Khajana

Bhitar Ka Khajana

आपके भीतर बहुत बड़ा खजाना है | उसे हंसिल करने के लिए आपको बस अपने मन

की आँखें खोलकर उसे देखना भर है | आपके भीतर नियामतों का अथाह भंडार है ,

जिसमें से आप सुखद , समृद्ध और आनंदमयी जीवन जीने के लिए जरूरी हर चीज

निकाल सकते हैं |

कई लोग अपनी संभावनाओं को इसलिए नहीं जान पाते हैं , क्योकि उन्हें अपने

भीतर मौजूद असीमित ज्ञान और अनंत प्रेम के भंडार का पता ही नहीं होता है |

जबकि सच तो यह है कि इसमें से आप अपनी हर मनचाही चीज निकाल सकते हैं |

लोहे का चुंबकिए टुकड़ा अपने भार से बारह गुना अधिक वजन उठा सकता है |

लेकिन अगर आप उसके चुंबकिये गुण को हटा दें , तो यह एक पंख भी नहीं

उठा पाएगा | इसी तरह लोग भी दो तरह के होते हैं | वे जानते हैं कि वे सफल

होने तथा जीतने के लिए पैदा हुये हैं |

दूसरी तरह के लोग वे होते हैं , जिनमें चुंबकिये गुण नहीं होता है | वे बहुत तादाद

मे होते हैं | वे डरो और शंकाओं से भरे होते हैं | अवसर सामने आने पर वे कहते हैं ,

अगर मैं सफल नहीं हुआ , तो क्या होगा ? कहीं मेरा पैसा न डूब जाए |लोग मेरी

हँसी उड़ायेंगे | इस तरह के लोग जिंदगी में ज्यादा आगे तक नहीं जा पाते हैं |

उनका डर उन्हें उसी जगह पर रोके रखता है , जहां वे हैं | आप चुम्बकीय व्यक्ति

बन सकते हैं , बशर्ते आप इतिहास के सबसे बड़े रहस्य को समझ लें और उस

पर अमल करने लगें |

Bhitar Ka Khajana

इतिहास का सबसे बड़ा रहस्य

मान लीजिये कोई आपसे इतिहास का सबसे बड़ा रहस्य पूछे तो आप क्या

जवाब देंगे ? परमाणु ऊर्जा ? ग्रहों पर पहुंचे अन्तरिक्ष – यान ? ब्लैक होल ? नहीं इनमें

से कोई नहीं | तो फिर सबसे बड़ा रहस्य क्या है ? इंसान इसे कहाँ खोज सकता है

इसे कैसे समझा जा सकता है और इसका लाभ कैसे लिया जा सकता है ? जवाब

आसान है | यह रहस्य है आपके अवचेतन मन में पाई जाने वाली अदभूत चमत्कारी

शक्ति | यह वह आखिरी जगह है , जहां ज़्यादातर लोग इसकी तलाश करते हैं | इसी

कारण यह रहस्य बहुत कम लोगों को पता चल पाता है |


Bhitar Ka Khajana

Random Posts

  • अकबर का सवाल

        अकबर का सवाल दरबार मे एक दिन बीरबल उपस्थित नहीं था ,इसलिए कई दरबारी बीरबल की बुराई करने […]

  • जिंदगी में फर्क

    एक आदमी को समुद्र के किनारे टहल रहा था |उसने देखा की लहरे के साथ सैकड़ों स्टार मछलिया किनारे तट […]

  • Bhitar ka Khajana

    आपके भीतर बहुत बड़ा खजाना है | उसे हंसिल करने के लिए आपको बस अपने मन की आँखें खोलकर उसे […]

  • मुंह पीछे बुराई

    मुंह पीछे बुराई    बीरबल  से  जलने वाले बहुत थे |एक बार किसी ईषयालु ने चौराहे पर एक कागज  चिपका […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*