Nightfall , Swapndosh ka Gharelu aur Ayurvedic Ilaj

Nightfall , Swapndosh Kise Kahate Hain-

Nightfall , Swapndosh Kise Kahate Hain
Nightfall , Swapndosh ka Gharelu aur Ayurvedic Ilaj

दोस्तों नमस्कार इस पोस्ट मे हम एक ऐसी समस्या का समाधान जानेंगे जो  किशोरावस्था में अधिक देखने को मिलता है |सोते समय बिना उत्तेजना के या बिना स्त्री संभोग किए बिना वीर्य का निकल जाना उसी को Nightfall या Swapndosh कहते हैं | इसमे इस प्रकार पता चलता है जब व्यक्ति सो करके सुबह जागता है तो उसके कपड़े गीले या कपड़ों पर सफ़ेद निशान के धब्बे मिलते हैं |

किसी व्यक्ति को यदि Swapndosh कभी – कभी अर्थात महीने मे 1-2 बार हो जाये और इसके बाद उसे कमजोरी का एहसास न हो तथा वह अपने आप को चुस्त और फुर्तीला महसूस करे तो उस हालत मे किसी भी प्रकार का चिन्ता करने की अवश्यक्ता नहीं है | परंतु जब अगर Nightfall , Swapndosh महीने में 6-7 या और अधिक बार हो जाये तो रोग समझ लेना चाहिए |स्वप्नदोष के बाद रोग को अवस्था में सिर दर्द व चक्कर आना , थकावट व सुस्ती , स्वभाव में चिड़चिड़ापन ,शरीर में शक्तिहीन्ता का अनुभव होना है |

स्वप्नदोष का रोग हो जाने पर धातु का निकलना याददाश्त की कमी , शरीर और मन की हीनता , चेहरे  का रौनक चले जाना ,भूख का कम लगना , पेट में गैस की सिकायत , प्यास अधिक लगना और मुंह का सुखना , शरीर का सुस्त रहना और आलस्य, हाथ – पाँव के तालुवों में जलन , तालु कण्ठ , जीभ तथा दांतों पर मेल , हृदय अधिक धड़कना , खून की कमी , कमर तथा शरीर के अन्य भागों में दर्द , वीर्य का पतला हो जाना , संभोग करते समय वीर्य का बहुत जल्दी निकल जाना , अस्थिरता , बड़े या नए लोगों के साथ शर्म महसूस करना , सिर में चक्कर आना , वजन की कमी , आँखों के पीछे दर्द आदि लक्षण होते हैं |

Nightfall , Swapndosh Ka Karan –

Nightfall , Swapndosh ka Gharelu aur Ayurvedic Ilaj
Nightfall , Swapndosh ka Gharelu aur Ayurvedic Ilaj

दोस्तों ऊपर की लाइनों में हमने Swapndosh के लक्षण के बारे में जाना अब हम इसके होने के कारण को जानेंगे | उत्तेजक चित्र या image देखना ,संभोग के बारे में सोंचना , नशे की लत जैसे – शराब पीना तंबाकू खाना और अन्य किसी प्रकार का नशा करना ,अश्लील चित्र देखना व गंदी किताबें या लेख पढ़ना , सहवास के बारे में साथियों से बातें करना ,अत्यधिक स्त्री सहवास , चित्त सोना ,स्त्रियों के प्रति अत्यधिक आकर्षक होना , खाना खाते ही सो जाना ,पेट में कीड़े की समस्या , हस्त मैथुन अथवा गुदा मैथुन , मानसिक परिश्रम अधिक करना , खट्टी मीठी , चरपरी तथा गरम वस्तुओं का प्रयोग , वीर्य की थैलियों की ऐंठन , स्तंभन शक्ति की कमी , वीर्य की अधिकता , वीर्य की गर्मी , मूत्राशय की खराश , अर्श ,घुड़सवारी आदि के कारण Nightfall , Swapndosh की समस्या होती है |

Nightfall , Swapndosh Ka Ayurvedic Ilaj

(1) निओ ( चरक ) कंपनी की 2 टिकिया दिन में 2-3 बार दूध से दें | स्नायुदुर्बलता स्वप्नदोष , हाथ – पाँव के तलवों में पसीना आना , थकान व बचपन की कमजोरियों को ठीक करती है | स्नायु मण्डल को नई जिंदगी देती है और आत्म विश्वास बढ़ाती है |

नोट – यदि पेट में कीड़े हैं या कब्ज और गैस बन रहा हो तो पहले उसको ठीक करें बाद में ‘ निओ ‘ का प्रयोग करें |

(2)  स्पेमेन फोर्ट (Speman Fort ) हिमालय क . की 1 या 2 गोली सुबह और साम ताजा जल से खाएं |

( 3 )  स्वप्नहरी Swapna Hari ( डाबर ) 1- 1 गोली दिन में तीन बार सुबह , दोपहर , शाम ताजा जल से खाएं |

(4 ) सरपीना Serpina ( हिमालया ) कंपनी का 1-1 गोली दिन में 2 बार दें स्वप्नदोष कम हो जाने पर सिर्फ दिन में एक लेना चाहिए |

( 5 ) बंगेश्वर रस ( वृहत ) की 1-1 गोली सुबह -साम शहद के साथ प्रयोग कराने से स्वप्नदोष दूर हो जाता है तथा बहुत सी धातुयें पुष्ट हो जाती हैं | शरीर और नसों में स्फूर्ति आ जाती है |

( 6 ) शुक्रमातुका वटी – इसके प्रयोग से वीर्य पुष्ट और गाढ़ा होकर स्वप्नदोष पूर्ण रूप से बंद हो जाता है | एक – एक गोली ताजा जल से सुबह और साम को लेना चाहिए |

( 7 )  चंद्रप्रभावटी – स्वप्नदोष तथा धातुस्त्राव में लाभप्रद है | यह वीर्य को गाढ़ा करता है | दिन में 1- 2 गोली सुबह साम दूध से खाएं |

Nightfall , Swapndosh Ka Desi Aur Gharelu Dava-

Nightfall , Swapndosh ka Gharelu aur Ayurvedic Ilaj
Nightfall , Swapndosh

( 1 ) बादाम की गिरि 1 नग , मिश्री 3 ग्राम गिलोयसत्व 3 ग्राम मक्खन में चाटकर ऊपर से मधु मिश्रित दूध सुबह साम पीने से स्वप्नदोष 8 दिन में ठीक हो जाता है |

( 2 ) गिलोय सत्व 10 ग्राम ,सफ़ेद मूसली 20ग्राम , दरियाई नारियल व तालमखाने प्रत्येक 30 ग्राम , मखानों की ठुर्री 40 ग्राम , मिश्री 50 ग्राम , सबको पीसकर छान लें |

इसमें से 6- 6 ग्राम प्रातः सांय मिश्री मिले गाय के धारोष्ण दूध के साथ खाने से सब तरह के प्रमेह , स्वप्नदोष , धातु विकार , मूत्रदोष वीर्य का शीघ्र स्खलित हो जाना , शुक्रतारल्य आदि रोग दूर हो जाता है |

( 3 ) बाबुल का गोंद 10 ग्राम प्रतिदिन 100 मि0 ली 0 जल में भिगो दें | सवेरे ही मैल छानकर उसमें 20 ग्राम मिश्री मिलाकर पी लें | इससे 21 दिन में स्वप्नदोष रोग ठीक हो जाता है |

( 4 ) हरड़ का चूर्ण तीन ग्राम शहद में मिलाकर खाने से स्वप्नदोष ठीक हो जाता है |

( 5 ) जामुन की गुठली का चूर्ण 4 ग्राम प्रतिदिन सुबह और साम पानी के साथ लेने से स्वप्नदोष होना बंद हो जाता है |

( 6 ) मुलहठी चूर्ण 3 ग्राम को शहद में मिलाकर चाटने से स्वप्नदोष बंद हो जाता है |

( 7 ) बबूल के कोमल पत्ते 6 ग्राम तक खाकर ऊपर से ठंडा पानी पी लें | इससे स्वप्नदोष तथा प्रमेह प्रमेह में बहुत ही बढ़िया फायदा होकर स्वप्नदोष ठीक हो जाता है |

नोट – ऊपर जो भी प्रयोग बताया गया है उसमें से किसी एक प्रयोग कर सकते हैं | कोई भी द्वा इस्त्माल से पहले किसी वैद्द से सलाह जरूर ले लें |

Nightfall , Swapndosh ka Gharelu aur Ayurvedic Ilaj
Nightfall , Swapndosh ka Gharelu aur Ayurvedic Ilaj

Nightfall , Swapndosh ke Liye Jaruri Jankari-

स्वप्नदोष से बचने और छुटकारा पाने के लिए आपको रात में सोने जाने से पहले अपना हाथ पाँव और मुंह अच्छी तरह से धोकर विस्तर पर 5 मिनट तक बैठ कर किसी धार्मिक किताब पढ़ना चाहिए और या तो कोई धार्मिक संगीत सुनना चाहिए | सोते समय किसी भी प्रकार का अश्लील चीजों के बारे मे नहीं सोंचना चाहिए |

स्वप्नदोष रोग होने पर हमेसा अपने पेट को साफ रखें पेट में गैस न होने दें इसके लिए लाल मिर्च , गरम मसाला , खट्टा मीठा खाना कम कर दें हल्का खाना खाएं जो जल्दी से पच जाए |

Nightfall , Swapndosh ka Gharelu aur Ayurvedic Ilaj

 

 

 

 

 

 

 

Random Posts

  • पनवाड़ी पति का लव लेटर

    पनवाड़ी पति का लव लेटर हमारी पियारी राम दुलारी , सदा मूस्कियात रहो , जब से तुम रिसियाय के अपने […]

  • चटपटे चुटकुले

    एक जहाज डूब गया | सारे मुसाफिर जहाज के साथ डूब गए | केवल एक मुसाफिर , जो कि एक […]

  • क्या पृथ्वी को माता कहना उचित है

    गर्भ धारण करने के पश्चात माता अपने बच्चे का भार सहन करती है |नौ माह बाद बच्चे का जन्म होता […]

  • सम्पादक पति का लव लेटर

        मेरी प्यारी रचना सदा प्रकाशित रहो  पिछले सप्ताह माइके से भेजा हुआ तुम्हारा हस्तलिखित प्रेम -पत्र प्राप्त हुआ […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*